Author: kavitha

बीजेपी ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी का जन्मदिन लोगों का सेवा सत्कार कर मनाया जाएगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन17 सितंबर को आने वाला है ऐसे में बिहार बीजेपी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन कुछ खास तरीके से मनाने का सोचा है। बीजेपी ने कहा है कि ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन बड़े एवेंट के तौर पर मनाने की तैयारी चल रही है।

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर चलाए जा रहे हैं, बड़े-बड़े कार्यों की तैयारियां

जैसा कि हम सभी जानते हैं अभी बिहार में कुछ महीने बाद बिहार विधानसभा चुनाव होने वाला है ऐसे में बीजेपी हर उस मौके को भुना लेना चाह रही है, जिससे पार्टी को फायदा होने वाला है ऐसे में अगर देखा जाए तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़े हुए कोई भी मामला सामने नजर आता है तो बीजेपी उसे छोड़ना बिल्कुल ही नहीं चाह रही है।यही वजह है कि चुनावी मौसम में बिहार बीजेपी ने 17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को बेहतरीन तरीके से मनाने का तैयारी कर रहा है बीजेपी पार्टी के तरफ से बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन इस बार गरीबों का सेवा सत्कार करके मनाया जाए।ताकि नरेंद्र मोदी को इससे खुशी मिले।

बीजेपी ने नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर चलाएंगे यह सारे कार्य

खबर सामने आ रही है कि पार्टी ने अपने सभी मंच मोर्चों को ये कहां है कि वो सब मिलकर प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अगले सात दिनों तक जनता की खूब सेवा करेंगे। उसके बाद नेताओं को मलीन बस्तियों में जाने और वहां साफ सफाई करने के साथ गरीबों के बीज खाना और कपड़ा बांटने का भी आदेश दिया है। उसके बाद सभी अस्पतालों में जाकर सभी मरीजों के बीच फल और पौष्टिक आहार देने का भी कार्यक्रम चलाया जाएगा।

फिलहाल बताया जा रहा है की बिहार में अगले कुछ महीनों में बिहार विधानसभा चुनाव होने वाला है ऐसे में बीजेपी जनता के दिल तक पहुंचने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाह रहा है। ऐसे में अगर हम बात सीधे पीएम नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता को भुनाने की हो तो भला बीजेपी इसे हाथ से कैसे जाने दे सकती है। यही नहीं बताया जा रहा है कि इस चुनावी गहमागहमी के बीच पीएम नरेंद्र मोदी बिहार को कई बड़े सौगात देने वाले हैं।10 सितंबर को मत्स्य, पशुपालन और कृषि विभाग से जुड़ी 294.53 करोड़ की विभिन्न योजनाओं का प्रधानमंत्री उद्घाटन और शिलान्यास करने जा रहे हैं जिससे लोगों को काफी राहत भी मिलेगी। बताया जा रहा है कि इसके साथ ही अगले 25 सितंबर तक पांच चरणों में कई और योजनाओं का उद्घाटन होने वाला है।

रिया चक्रवर्ती से तीन दिन के पूछताछ के बाद ड्रग पैडलिंग, और सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस के मामले में NCB ने किया गिरफ्तार

बॉलीवुड से अभी सबसे बड़ी खबर आ रही है कि रिया चक्रवर्ती  को  ड्रग पैडलिंग और  कई गंभीर आरोप लगाए गए थे। जिसके कारण आज 3 दिनों के पूछताछ के बाद आज NCB ने गिरफ्तार कर लिया है।बताया जा रहा है कि अब रिया तो गिरफ्तार हो ही गई है अब गिरफ्तारी के बाद रिया का मेडिकल टेस्ट और कोरोना टेस्ट दोनों करवाया जाएगा। सूत्रों के अनुसार जानकारी मिली है कि आज 7:30 बजे रिया को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा  कोर्ट में पेश कर दिया जाएगा।

गूगल इमेज

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि NCB को लग रहा है कि पिछले कुछ दिनों से जो रिया चक्रवर्ती जानकारी दे रही है वह बहुत ज्यादा है इसीलिए रिया चक्रवर्ती से आगे कोई भी पूछताछ नहीं किया जाएगा। NCB के ऐसा करने पर होगा ये कोर्ट अपनी तरफ से ही ज्युडिशियल कस्टडी अपनी तरफ से तय करने वाला है।आगे यह भी हो सकता है कि  रिया के वकील सतीश मानशिंदे जमानत की अर्जी भी दे सकता है।

बताया जा रहा है कि पहले दिन ही रिया चक्रवर्ती से NCB ने 6 घंटे तक लगातार पूछताछ की किया था। उसके बाद भी एनसीपी ने रिया चक्रवर्ती का पीछा नहीं छोड़ा और दूसरे दिन भी लगातार  8 घंटे तक रिया से  पूछताछ किया।और  आज तीसरे दिन 3 घंटे तक रिया चक्रवर्ती से पूछताछ करने के   बाद NCB ने रिया चक्रवर्ती आखिरकार गिरफ्तार कर  ही लिया।

 जैसा कि हम सभी जानते हैं सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस मामला इतना दिन से चल रहा था पर  कुछ सही से सामने नहीं आ रहा था। अब जाकर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में ये अब तक की सबसे बड़ी गिरफ्तारी बताई जा रही है। लेकिन इसमें एक बात ये भी है कि ये गिरफ्तारी ड्रग पैडलिंग मामले में है।

खबरों की माने तो बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड मामले में रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी का इंतजार  सुशांत सिंह के फैंस बहुत दिनों से कर रहे थे। जैसा कि हम सभी ने देखा था कि सुशांत सिंह केस  में सीबीआई को रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार करने की बात कही जा रही थी। लेकिन इस बीच में एक दूसरा ही मोड़ आ गया जिसमें  ड्रग एंगल आने के बाद से इस केस में NCB की एंट्री हुई थी। जिसमें सबसे पहले  ड्रग का व्यापार करने के मामले में रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया गया था।अब ड्रग के मामले में रिया चक्रवर्ती को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

बंगाल के दक्षिण 24 परगना में बीजेपी महिला कार्यकर्ता के घर में घुसकर किया मारपीट, TMC पर आरोप

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल मे  भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं पर बार-बार हमले हो रहे हैं। ये हमले थमने का नाम ही नहीं ले रहा है।  ये खबर बंगाल  राज्य के दक्षिण 24 परगना से  है। बताया जा रहा है की जहां पर एक बीजेपी महिला कार्यकर्ताओं को गोली मार दिया गया है। बीजेपी महिला कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल बताई जा रही है और उन्हें आनन-फानन में  अस्पताल मे  भर्ती करवा दिया गया है। जहां पर बीजेपी महिला कार्यकर्ता का इलाज चल रहा है।

उसके बाद इस बात की जानकारी तुरंत ही पुलिस को दी गई और पुलिस  ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता के महिला विंग की नेता को राज्य के दक्षिण 24 परगना जिले में कुछ अज्ञात अपराधियों ने गोली मार दिया है। उसके बाद पुलिस ने ये भी  कहा कि हम इस मामले की जांच अच्छी तरीके से कर रहे हैं और जल्द ही अज्ञात अपराधियों को हम गिरफ्तार भी कर लेंगे।

 इस पीड़ित महिला बीजेपी कार्यकर्ता  की पहचान राधारानी नस्कर के रूप में कीया गया है।  बताया जा रहा है की ये महिला  दक्षिण 24 परगना जिले के बिष्णुपुर इलाके में बूथ समिति की उपाध्यक्ष और भारतीय जनता पार्टी और महिला मोर्चा समिति की कैशियर  है।

बताया जा रहा है कि पीड़ित महिला के पति अरुण नस्कर बिष्णुपुर में भाजपा के स्थानीय बूथ समिति के अध्यक्ष हैं। लोगों के जानकारी के अनुसार  तृणमूल कॉन्ग्रेस समर्थक सशस्त्र बदमाशों का एक समूह पीड़ित महिला के पति अरूण जो कि भाजपा के स्थानीय  बूथ समिति के अध्यक्ष हैं। उनको खोजते हुए उनके घर में घुस गया भगवान की दया से उस समय उनके पति अरुण घर में नहीं थे। जब महिला बीजेपी कार्यकर्ता ने शोर मचाया तब  बदमाशों ने  राधारानी की पिटाई की और सिर के पिछले हिस्से में गोली मारकर घायल कर दिया। 

खबर सामने आ रही है कि इससे पहले भी भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले किए गए थे। बताया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल के कलना के पास पथर घाटा में एक भाजपा कार्यकर्ता रॉबिन पॉल रहता था जिसे कुछ दिन पहले पीट-पीटकर मार दिया गया था।

 उसके बाद रॉबिन पॉल के परिवार वालों ने बताया कि  उनके घर के सामने मनरेगा के तहत काम चल रहा था और मनरेगा के करमचारी वहां पर खड़े होकर पेड़ कटवा रहे थे। इस बात पर रॉबी ने  उन लोगों को  रोका  उसके बाद दोनों के बीच बहस बाजी छीङ गई और कुछ ही देर में मारपीट होना शुरू हो गया।

इस मौके पर तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) के लगभग 50 से अधिक कार्यकर्ता वहां पर एक साथ जमा हो गए और वो सब  इकट्ठा हो कर  रॉबिन की लिंचिंग कर दीया।

उसके बाद तृणमूल कॉन्ग्रेस के सभी कार्यकर्ता ने मिलकर रॉबिन को  बहुत मारा उसके बाद रॉबिन को बहुत सारे गांव में ले जाकर  घुमाने लगा।  उसके बाद वहाँ के  टीएमसी के डिप्टी चीफ ने उसके साथ जम कर मारपीट कीया। रॉबिन के परिवार वाले ने उन लोगों पर आरोप लगाया कि जब रॉबिन को उसकी बेटी ने पानी देने का प्रयास किया तो तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उसे पानी नहीं देने दिया। उसके बाद तृणमूल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ताओं ने रॉबिन की बेटी को धमकाया और कहा कि अगर तुम अपने पिता की मदद करोगी तो  जो हाल हमने तुम्हारे पिता का किया है। वही हाल तुम्हारा भी करेंगे।

BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने पीएम को दी ये सलाह,विदेशी दौरा खत्म कर लौटे विदेश मंत्री

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि अभी फिलहाल एलएसी का हालात बहुत दिनों से तनावपूर्ण बना हुआ है। बताया जा रहा है कि बीती रात चीनी सेना ने अचानक से लदाख पर  फायरिंग कर दिया है। इस तरह तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी  ने  कहा कि हम चीन से बातचीत क्यों कर रहे हैं? हमें बिल्कुल ही चीन से   बातचीत नही करनी चाहिए। रहे हैं? दरअसल, बताया जा रहा है कि विदेश मंत्री जयशंकर 10 सितंबर को मॉस्को में शंघाई सहयोग संगठन  होने वाला है।जिसमे  विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर वांग से मील भी  सकते हैं।

BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने  अपने ट्वीट में लिखा है की “विदेश मंत्री जयशंकर को मॉस्को में अपने चीनी समकक्ष से क्यों मिलना है? आखिरकार क्या बात है? खासतौर पर रक्षा मंत्रियों से मुलाकात के बाद? उन्होंने ये भी कहा है कि 5 मई 2020 के बाद से भारत के पास चीन से विदेश नीति पर कोई वाद- विवाद सुलझाने की अब कोई जरूरत नहीं है।इस बात को लेकर BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि  पीएम नरेंद्र मोदी को विदेश मंत्री से अपना दौरा अब कैंसिल करने के लिए  बोल देना चाहिए। क्योंकि ये हमारे संकल्प को कम करता है।

गूगल इमेज

उसके बाद चीन के विदेश मंत्री वांग यी के मॉस्को के साथ बातचीत हुई उससे पहले  सोमवार को  विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बताया है  कि चीन के साथ सीमा पर जो गंभीर स्थिति बनी हुई है उसको पड़ोसी देश के साथ समग्र रिश्तों की स्थिति से अलग करके कभी नहीं देखा जाऐगा।

 उसके बाद विदेश मंत्री ने कहा है कि अभी जो पूर्वी लद्दाख के हालात है। वो बहुत ज्यादा गंभीर है और उन्होंने  ये भी कहा है कि ऐसी स्थिति में दोनों पक्षों के बीच राजनीतिक स्तर पर बहुत सोच समझकर विचार विमर्श करने की जरूरत है।

 खबर सामने आ रही है कि 15 जून को पूर्वी  लद्दाख की गलवान घाटी  में जो संघर्ष हुआ था उसमें 20 भारतीय सैनिक  मारे गए थे उसके बाद वास्तविक नियंत्रण  रेखा पर काफी ज्यादा तनाव भी बढ़ गया था। इस संघर्ष में कुछ चीनी जवान भी मारे गए थे। लेकिन पड़ोसी देश ने  चीनी जवानों का ब्योरा नहीं दिया था। लेकिन कुछ दिन बाद अमेरिका के एक खुफिया  एजेंसी के अनुसार बताया जा रहा है कि चीन के 35 जवान मारे गए थे।

अमित शाह ने भारत की बेटी के वचनों का रखा मान, मुंबई पुलिस और संजय रावत की जुबानी जंग को देखते हुए, कंगना रनौत को Y श्रेणी की सुरक्षा देने का किया फैसला

ये खबर   बॉलीवुड और राजनीति दोनो  से जुड़ी हुई है। जहां पर बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और राजनीतिक से शिवसेना संजय रावत के बीच कुछ दिनों से काफी बहस बाजी छिड़ी हुई है जिसके कारण अमित शाह ने कंगना रनौत की वॉइस लेने की सुरक्षा देने का फैसला किया है। सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि कुछ दिनों से देखा जा रहा है कि कंगना रनौत सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर बार-बार शिवसेना संजय रावत के बीच सोशल मीडिया पर बेजुबान बाते  देखने को मिल रही है। इस चीज को देखते हुए संजय रावत ने कहा अगर कंगना को मुंबई में डर लग रहा है तो वो आखिरकार मुंबई आई ही क्यों उन्हें मुंबई नहीं आना चाहिए।

Google Image

 कंगना ने अपने ट्वीट में कहा है कि  मैं हमेशा अमित शाह  की आभारी रहूंगी क्योंकि उन्होंने मेरे ऊपर खतरा को देखते हुए मेरे लिए सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था किया। अब मुझे पूरा विश्वास हो रहा है कि अब किसी भी  देशभक्त की आवाज को कोई भी कुचल नही सकता है।

कंगना रनौत  ने लिखा है कि  अमित शाह ने भारत की एक बेटी के मान सम्मान का ख्याल रखा और ऐसे हालात को देखते हुए भी उन्होंने  हमे मुंबई जाने की इजाजत दीया और साथ में मेरे सुरक्षा का भी अच्छा व्यवस्था करवा दिया।

 बताया जा रहा है कि कंगना रनैत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड केस के मामले में बहुत दिनों से  उ’द्धव ठाकरे सरकार और मुंबई पुलिस को घेरने में लगी रहती है । सुशांत सिंह सुसाइड केस को लेकर अभिनेत्री कंगना रनौत  मुंबई पुलिस पर आरोप पर आरोप लगाई जा रही है। जिसके कारण इन लोगों के बीच में हमेशा बहस बाजी छीङ ही जाती है।

मुंबई पुलिस कमिश्नर को अपने निशाने पर लेते हुए कंगना रनौत ने अपनी एक ट्वीट  मे कहा है  कि मुबंई पुलिस कमिश्नर ने ऐसे कुछ गलत बयान बाजी  की गई पोस्ट को लाइक किया है। इस  पोस्ट को देखते ही  मुंबई पुलिस और कंगना रनौत के बीच बस बाजी शुरू हो गई। इस चीज को देखते हुए शिवसेना के नेता संजय रावत ने बताया कि अगर कंगना रनौत को मुंबई पुलिस  और मुंबई में रहने में डर लग रहा है तो उन्हें यहां पर नहीं रहना चाहिए।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि इसके बाद  भी फिल्म अभिनेत्री कंगना रौनत ने  मुंबई को पाकिस्तान घोषित करने की कोशिश की थी। इसके बाद ही कंगना रौनत ने कई बार  शिवसेना और संजय राउत को निशाने  पर भी ली थी।

बताया जा रहा है कि कंगना ने अपने एक ट्वीट में भी कहा है कि किसी के बाप का नहीं है महाराष्ट्र उसी का है जिसने महाराष्ट्र का गौरव और प्रतिष्ठा दोनों को बचाया है। कंगना ने कहा कि मैं डंके की चोट पर ऐलान करती हूं कि मैं एक मराठी हूं जिसको जो उखाड़ना है  मेरा उखाड़ लो।  अब आपको बता दें कि कंगना के साथ  Y कैटेगरी सुरक्षा के तहत 11 सुरक्षाकर्मी कंगना के सुरक्षा के लिए 24 घंटे तैनात  भी किया जाऐगा ।

जाने मोदी सरकार ने बेरोजगारों के लिए पोर्टल पर कितना नौकरी उपलब्ध करवाई है, और कितने को नौकरी मिली है

जैसा कि हम सभी लोग अभी देख रहे हैं सभी लोग अभी ज्यादातर बेरोजगार घर बैठे हैं ऐसे में बेरोजगार लोगों ने मोदी सरकार से जॉब पोर्टल पर एक करोड़ से ज्यादा बेरोजगारों ने नौकरी की माँग कीया है।इसके जवाब में अब तक मोदी सरकार ने 67.99 लाख नौकरियों की सूचना पोर्टल पर उपलब्ध करवा दिया है। लेकिन अभी तक  कितना भी रोजगार पोर्टल पर नौकरी के लिए पंजीकृत किए हैं इसका अभी तक सरकार के पास कोई आंकड़ा नहीं है। श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार पहले लोकसभा में  हुए एक सवाल के जवाब में उन्होंने  खुलकर बता दिया है,कि नेशनल करियर  पोर्टल के जरिए कितने लोगों को नौकरी मिली है  उसका जानकारी वहां पर नहीं रखा जाता है  पोर्टल पर सिर्फ रजिस्टर्ड वैकेंसी और पंजीकृत बेरोजगारों से जुड़े आंकड़े ही रखे जाते   हैं।

avoid doing things in office
Google Image

बताया जा रहा है कि मोदी सरकार ने नौकरियों के लिए हर जगह जो लोग बेरोजगार इधर-उधर घूम रहे थे। उन बेरोजगारों और अच्छे कर्मचारियों के लिए जो संस्था  ढूंढ रही थी उसके लिए उन्होंने सबसे खास पहल कीया था। इसके लिए श्रम और जगार मंत्रालय ने नेशनल करियर सर्विस पोर्टल का प्लेटफॉर्म लांच किया था। इस फोटो पर जो लोग बेरोजगार हैं वह अपने शैक्षिक योग्यता  अपना प्रोफाइल  बना सकते हैं और  जो कंपनी नौकरी देती है वहां पर वह रजिस्ट्रेशन भी कर सकते हैं।अगर बेरोजगार लोग  किसी भी संस्था या  कंपनी के बारे में जानकारी लेना चाहते हैं तो वह आसानी से ले सकते हैं।

चलिए एक बार हम नजर डालते हैं 2015 के जॉब पोर्टल पर जहां पर लोगों के लिए नौकरी की स्थिति संतोषजनक नहीं दिख पाई थी। बताया जा रहा है कि जब पोर्टल बनने के पहले साल 2015-16 में कुल एक लाख 47 हजार 780 नौकरियों की पोर्टल पर उपलब्ध करा दिया गया था।  जबकि 2015  और 16 मे  लगभग  32 लाख 32 हजार 916 बेरोजगारों ने नौकरी की मांग किया था। उस समय नौकरी देने वाली सिर्फ  559 कंपनियां  होटल से जुड़ा हुआ था। जो कि बेरोजगारों को नौकरी दे सकता था।

अगले साल पोर्टल के बारे में और जानकारी हुई तो बेरोजगारों की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ गई थी। 2016-17 में 1433075 जॉब के लिए वैकेंसी निकाला गया था। उसके बाद बेरोजगारों की संख्या बढ़कर  44,73,989 हो गई थी। उसके बाद  2017-18 में  भी  5251432 बेरोजगारों ने सरकार से नौकरी की मांग किया। बेरोजगारों के  नौकरी की मांग  करने बाद सरकार ने 23,54,047 नौकरियां उपलब्ध कराया। उसके बाद 2018-19 में बेरोजगारों की संख्या 85,41,273 तक बढ़कर हो गया। जबकि नौकरियों का आंकड़ा 40,41,848 ही रहा।

 उसके बाद बताया जा रहा है कि 2019-20 में बेरोजगारों की  संख्या  एक करोड़ नौ लाख 87 हजार 331 हो गया। जबकि नौकरियों की संख्या 67,99,117 ही  रह गई।  अभी भी  एक करोड़ चार लाख 54 हजार 808  लोग बेरोजगार बैठे  हैं। और सरकार ने सिर्फ तीन लाख 26 हजार  हि जाँब  वैकेंसी निकाला था।

सबसे हम पहले जानते हैं कि कौन सी जगह पर कितना जॉब उपलब्ध है। कर्नाटक में अभी फिलहाल 45,764 जॉब की उपलब्धियां है,महाराष्ट्र मे भी  42,506 जाँब है, इसके साथ साथ और बहुत सारे जगह पर जॉब है. पश्चिम बंगाल में 40,417, उत्तर प्रदेश में 30,428, गुजरात में 20,081, मध्य प्रदेश में 13,739 जाँब इन सभी पोर्टल पर अभी  उपलब्ध हैं। उसके बाद बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में भी अभी फिलहाल 274   महज 21,334  सरकारी नौकरियां हैं, वहीं 23,010 रिटायर्ड सैनिकों के लिए, वहीं मात्र 4986 नौकरियां महिलाओं के लिए हैं. दिव्यांग लोगों के लिए 208, अप्रेंटिसशिप के लिए 347 हैं.

स्कूल बंद होने के कारण कॅरियर पोर्टल पर यू-ट्यूब के जरिए बच्चों के लिए ऑनलाइन सेशन शुरू किया गया

कोरोवायरस  पूरे देश में तबाही मचा रखा है।ऐसे में बिहार के साथ-साथ हर जगह का स्कूल 14 मार्च से ही बंद कर दिया गया है, और स्कूल कब खुलेंगे इसका उम्मीद अभी तक नहीं है। स्कूल बंद होने के कारण बच्चों की पढ़ाई में काफी कठिनाइयां का सामना करना पङ रहा है। बच्चे सही ढंग से पढ़ नहीं पा रहे हैं।

इस परिस्थिति को देखते हुए  बिहार शिक्षा परियोजना परिषद ने बिहार कॅरियर पोर्टल पर यू-ट्यूब के जरिए बच्चों के लिए ऑनलाइन सेशन शुरू कर दिया गया है। इस परीयोजना को यूनिसेफ के  मदद  से सकारा  गया है।

बीईपी के राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी सचिन्द्र कुमार ने सभी जिले के डीईओ और डीपीओ को अनुमति दी गई है। वो  कॅरियर और  मनोवैज्ञानिक मार्गदर्शन के लिए अपने जिले 9वीं और 12वीं तक के जितने भी बच्चे हैं। सभी को इस कार्यक्रम से जोड़ें ताकि वो अपने कैरियर को आगे बढ़ा सके और इस कार्यक्रम में सबसे ज्यादा जरूरी है। शिक्षक और अभिभावक को भी प्रेरित करना  है ताकि वो  बच्चे को उनके  कैरियर में आगे बढ़ने में मदद कर सके।

एसपीओ  के मुताबिक बताया जा रहा है कि बच्चे बहुत लंबे समय से स्कूल बंद होने के कारण उनको  अपने कैरियर को लेकर के बहुत सारी बहुत सारी चिंताएं  सता रही है। 12वीं पास होने के बाद सोच रहे होंगे जो क्या करें क्या ना करें। बच्चे अपने कैरियर को  लेकर सोच रहे होंगे कि कौन सा स्ट्रीम चुने। इसीलिए यह ऑनलाइन सेशन चला गया है। जिससे बच्चे किसी भी तरह का सवाल विशेषज्ञ से विस्तार से पूछ सकते हैं। बच्चे अगर चाहे तो सामाजिक और मनोवैज्ञानिक सवाल भी नामचीन विशेषज्ञ से पूछ सकते हैं।  बच्चों को इस जॉब से रिलेटिव और कैरियर से संबंधित जानकारी लिंक के द्वारा समय-समय पर व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए दिया जाएगा।

बच्चों को सही रास्ता दिखाने के लिए बीईपी ने बहुत सारे नामचीन विशेषज्ञ  को इस कार्यक्रम से जोङ दीया है।जिससे बच्चों को सही रास्ता मील सके।अर्जुन अवार्डी निशा मिल्लत और  बालीवुड गायिका शिबानी कश्यप ये सभी नामचीन विशेषज्ञ  बच्चों से ऑनलाइन जुड़ेंगी इसके  सीवा सभी बच्चों को शिक्षा, मनोचिकित्सा, फैशन डिजार्इंनींग समेत और कई क्षेत्रों के विशेषज्ञों से भी सम्पर्क करवाया  जा  सकता है।

अब सप्ताह में सोमवार, बुधवार और शुक्रवार तीन दिन सेशन  चलाया जाएगा

 सूत्रो के अनुसार बताया जा रहा है की बीईपी के भारत भूषण ने कहा  बीईपी ने यूनीसेफ के साथ मीलकर  7 अप्रैल से सप्ताह में एक दिन ही ऑनलाइन  क्लास शुरू किया है।  लेकिन अब इसे तीन दिन शुरू  दिया गया है। ये सेशन्स  हर एक सप्ताह में सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को शाम 5 बजे यूट्यूब पर लाइव  सेशन्स शुरु कीया जाऐगा।

अगर आप अपने काम में तरक्की चाहते हैं,तो इसके लीऐ आजमाऐ ये छ: टिप्स

हर कोई चाहता है कि हम आगे की और तरक्की करें लेकिन कभी-कभी हम देखते हैं कि हमारा क्वालिफिकेशन दूसरों के क्वालिफिकेशन से ज्यादा रहता है। लेकिन हम अपने काम को सही ढंग से करते हुए भी आगे नहीं बढ पाते हैं और कुछ लोग क्वालिफिकेशन कम होते हुए भी हम से आगे निकल जाते हैं तो इसके लिए सबसे जरूरी होता है कि हम जिस जगह पर काम करते हैं वहां पर सबसे पहले हम अपने बॉस के दिल को खुश  करके रखे  ताकी हमे अपने तरक्की मे कोई बाधा न आऐ

चलिए जानते हैं इसके लिए पांच बेहतरीन टिप्स

समय का हमेशा ध्यान रखना

अगर आप किसी ऑफिस में काम करते हैं या घर पर काम करते हैं या आपको कहीं जाना पड़ता है और ऐसे समय में आप ऑफिस या कहीं थोड़ा लेट से जाते हैं,तो वहां पर जाकर आपको बहुत सारी बातें आपके बॉस से सुनना पड़ता है। तब आपको बहुत ज्यादा गुस्सा आता होगा। ऐसे में अगर आप समय का ध्यान रखिएगा और समय के अनुसार आप काम करिएगा तो आपको काम भी अच्छे तरीके से हो जाएगा और बॉस  से कुछ सुना भी नहीं पड़ेगा साथ में आपके आसपास जो कर्मचारी रहते हैं वो भी आपके बारे में अच्छा सोचेंगे।  टाइम का पक्का है और काम समय से करता रहता है इससे आपके बॉस और काम करने वाले जो भी कर्मचारी हैं। वो आपको देखकर हमेशा खुश रहेंगे और आपकी तरक्की में कभी भी कोई बाधा नहीं आएगी।इन सब चीजों को आपको विशेष ध्यान रखना होगा।

Google Image

ऑफिस के बारे में हर एक चीज की जानकारी रखना

अगर आप किसी  ऑफिस  मे काम करने जाते है तो सबसे पहले आपको  उस ऑफिस के बारे मे सब कुछ सही से पता करना होगा ताकी  आपको वहां जाने के बाद किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पङे। ये आपके लीऐ बहुत जरूरी है। आप जितना इन  सब बातों से अपडेड रहीऐगा उतना अच्छा होगा। इससे आपको वर्कप्लेस पर आपको ज्यादा  मजबूती भी मिलेगी।

 कभी भी आप इन बातों की गलतियाँ बिल्कुल ही मत करिऐगा की आप बॉस के साथ बैठ कर ज्यादा देर तक समय बिताते हैं,या  आप बहुत से ज्यादा बातचीत करते हैं, या उनके करीब होने की कोशिश करते हैं। ये सब बातें सोचना बिल्कुल ही गलत है क्योंकि बॉस कैसा भी हो वह हर कर्मचारी से अच्छे की उम्मीद करता है।अगर कर्मचारी अच्छा करता है तो बाँस भी खुश होकर आगे परमोशन करने के बारे में जरूर सोचता है।

Google Image

आपके  कपड़े भी आकर्षक होना चाहिए

अगर आप आँफिस या कहीं भी जाते हैं तो हमेंशा एक चीज का ध्यान  रखना पड़ता है कि आपका कपड़ा किस टाइप का है अगर आप ये कपड़ा पहन  के ऑफिस में जाते हैं तो इस चीज का हमेशा आपको ध्यान रखना चाहिए  आपके बॉस या सहकर्मी वर्कप्लेस पर आपकी ड्रेस से असहज महसूस तो नही करते है। लोगों को आपका कपड़ा पसंद आता है या वो आपके कपड़े को देखकर  हंसने न लगे या आपकी बेइज्जती ना करें। ये सारी चीज आपको  हमेशा देखना पड़ता है। आपको  हमेशा ऐसा कपड़ा पहनना चाहिए जिससे लोग आपके कपड़े को देखकर आकर्षित हो और लोग आपकी तारीफ करें जरूरी नहीं है कि हम 1000 का ही कपड़ा पहन के जाए।अगर आपके पास 500 का भी कपड़ा है और  दिखने में सही है कलर अच्छा है और उसे हम अच्छे से रखते हैं,साफ-सुथरी है तो पहन के जाने में कोई हर्ज नहीं है और लोगों को भी ऐसे कपड़े बहुत पसंद आते हैं।

बोल -विचार का हमेशा ध्यान रखना चाहिए

 अगर हम कहीं जॉब करने के लिए जाते हैं तो हमें सबसे पहले अपने बोली विचार रहन-सहन का ध्यान रखना पड़ता है।अगर हम अपने  आसपास के लोगों और अपने बॉस के साथ अच्छा व्यवहार बना कर रखते हैं,तो वह हमारे लिए सबसे बड़ी बात होती है।जिसके कारण हम लोगों के दिलों में अपने लिए जगह बना सकते हैं। हमे अपने आसपास के लोगों के बारे में शिकायत बिल्कुल ही नहीं करना चाहिए।हमेशा उनका अगर हम मान- सम्मान और इज्जत करते हैं तो हम हमेशा एक दूसरे के नजर में ऊपर उठे रहेंगे और इससे सभी लोग हमेशा हमे मान-सम्मान देते रहेंगे। अगर हम अपने ऑफिस में अपना छवि अच्छा बना कर रखते हैं, तो इससे  कोई भी हमारे तरक्की में  रुकावट कभी भी नहीं बनेंगे।

बॉस का दिल जीतने का तरीका

अगर आप अपने  बॉस का दिल जीतना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने आपको काफी  बेहतरीन साबित करना होगा इसके लिए चाहे आप  लिखित हो या मौखिक आप अपने बॉस के साथ बहुत सारे ऐसे आईडिया शेयर कर सकते हैं जो कि आपकी बॉस के बिजनेस में काफी   प्रॉफिट ला सकता  है। आप खुद को ही भीतर कर्मचारी साबित कर सकते हैं और सबसे बड़ी बात यह कि आप अपने बॉस का भरोसा भी जीत सकते हैं जिससे  आपका  तरक्की भी हो सकता है।

बॉस के नजर से कुछ भी छुपा नहीं रहता है,वो सब जानते है

अगर आपके बॉस  बहुत अच्छे हैं तो वो आपके बारे में हर एक चीज बहुत अच्छी तरह से जानते होंगे क्योंकि वो हमेशा ये चीज जरूर  देखते हैं कि कौन कर्मचारी मेहनत करता है और अपने काम को सही ढंग से करने के लिए हमेशा तैयार रहता है और कौन सा कर्मचारी चापलूसी करता है।अगर आपके बॉस आपको अच्छी तरह से समझते हैं कि आप एक मेहनत करने वाले कर्मचारी हैं तो आपके तरक्की में कभी भी कोई बाधा नहीं आएगा।

झारखंड कॅरियर पोर्टल के द्वारा नौवीं कक्षा से ही 546 कोर्सो की जानकारी आसानी से ले सकते हैं

जैसा कि हम सभी आजकल देख  रहे कि हर कोई   अपने भविष्य में कुछ बनना चाहता है कुछ करना चाहता है। ज्यादातर आप लोगों के मुंह से यही जवाब सुनिएगा कि वो डॉक्टर, इंजीनियर या शिक्षक बनना चाहता है। आज के समय में अगर छात्र-छात्रा चाहे तो पर्यटन, एनिमेशन, मास कम्युनिकेशन, टेक्सटाइल डिजाइन और बहुत सारे ऐसे भी क्षेत्र है।जहां पर वो अपना कैरियर बना सकते हैं। जैसा कि हम सभी देखते हैं की गांव घर में भी सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे अपने कैरियर को लेकर काफी परेशान रहते हैं,लेकिन अब वो भी नौवीं  से ही अपने कैरियर के बारे में बहुत सारे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Google Image

जैसा कि हम सभी जानते हैं जेईपीसी आई ड्रीम कॅरियर और  यूनिसेफ की तरफ से  संयुक्त रूप से झारखंड कॅरियर पोर्टल बनाया गया है। बताया जा रहा है कि झारखंड कैरियर पोर्टल में  26 सौ से ज्यादा  शैक्षणिक  और व्यवसायिक क्षेत्र और 546 कोर्सों के बारे में भी जानकारी  दिया गया है।

बताया जा रहा है  जैक से रजिस्टर्ड जिले के सभी स्कूलों में जितने भी नामांकित वर्ग नौ से 12वीं तक के लड़के, लड़कियां और शिक्षक है, सभी को झारखंड कॅरियर पोर्टल का इस्तेमाल करने के लिए बताया गया है।

Google Image

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद निदेशक ने जो पत्र जारी किया है। उसमें कहा है कि ये  शिक्षकों और छात्रों के लिए काफी लाभदायक होगा। जैसा कि हम सभी देख रहे हैं अभी के समय में  स्कूल और बाकी सभी संस्थाएं बंद है।ये हम सभी के लिए  एक चुनौतीपूर्ण स्थिति बन गई है।

अगर आप और ज्यादा जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आप अपने समय का उपयोग कर झारखंड कैरियर पोर्टल का इस्तेमाल करके बहुत सारे जानकारी भी  प्राप्त कर सकते हैं। इस पोर्टल में सभी प्रकार की जानकारी आसान तरीके से उपलब्ध है।

आप इस पोर्टल  में ये भी देख सकते हैं कि न्यूनतम कितनी पढ़ाई में क्या-क्या अवसर आपको मिल सकता है इसमें आपको  कितना वेतन मिलेगा ये भी जानकारी आप इस पोर्टल के माध्यम  से प्राप्त कर सकते हैं। इस पोर्टल से शिक्षकों को भी जोड़ने के लिए कहा गया है ताकि शिक्षक अच्छे से इस पोर्टल के बारे में जानकारी प्राप्त करें और अपने स्कूल के छात्र और छात्राओं को  इस पोर्टल के बारे में सही ज्ञान दे।  झारखंड कॅरियर पोर्टल में जो भी जानकारी दी गई है।वो सब  बहुत आसान तरीके से बताया गया है ताकि शिक्षक और छात्र -छात्राएं इसे सही ढंग से समझ सके और उन्हें समझने में  कोई कठिनाई नहीं हो।

आज से देश भर में शुरू हुआ JEE Mains, 6 सितम्बर तक चलेगा.

तमाम विरोध के बावजूद आज देश भर में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा JEE की परीक्षा आयोजित की जा रही है. छात्रों ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर सरकार से परीक्षा न कराने की अपील की थी. कई राजनीतिक दलों ने भी सरकार से मांग की थी कि कोरोना काल में छात्रों की सुरक्षा को ध्यान में रख कर परीक्षा को टाल देना चाहिए. मगर इन सब के बावजूद सरकार अपने फैसले पर कायम रही. कई राज्य सरकारों ने भी सरकार के फैसले के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की मगर वहाँ से भी कोई राहत नही मिली.

JEE Mains की परीक्षा आयोजित करने वाली नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने छात्रों को भरोसा दिलाया है कि परीक्षा केन्द्रों पर छात्रों की सुरक्षा का भरपूर ध्यान रखा जायेगा. छात्रों के स्वास्थ के लिए NTA ने कई इंतज़ाम किये हैं. परीक्षा केन्द्रों पर छात्रों को एंट्री से पहले थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना होगा. जिन छात्रों का तापमान थर्मल स्क्रीनिंग में ज्यादा पाया जायेगा, उनके लिए एक अलग कमरे की व्यवस्था की गई होगी. छात्रों को पूरे परीक्षा के दौरान मास्क और दस्ताने पहनने होंगे. ये दोनों चीजे NTA मुहैया करवाएगी. परीक्षा केन्द्रों पर शारीरिक दुरी का भी पूरा ख्याल रखा जायेगा. हर पाली के बाद परीक्षा केन्द्रों को पूरी तरह सैनिटाईज किया जायेगा. हर बार की तरह इस बार परीक्षा केन्द्रों पर पीने के पानी की व्यवस्था नही होगी, छात्रों को अपने साथ बोतल लाना अनिवार्य होगा.

कोरोना काल में छात्र अपने परीक्षा केन्द्रों तक पहुँच सके इसके लिए भी कई राज्यों ने बड़े पैमाने पर तैयारी की है. मुंबई में छात्र परीक्षा केन्द्रों तक पहुँचने के लिए लोकल ट्रेन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. कई राज्य सरकारों ने फ्री यातायात के साधन भी मुहैया करवाएं हैं ताकि छात्र परीक्षा केन्द्रों तक पहुँच सकें. कोरोना काल में छात्र JEE की परीक्षा को टालने की मांग कर रहें थें मगर शिक्षा मंत्री ने यह कहते हुए मांग ख़ारिज कर दिया था कि लगभग 80% छात्रों ने JEE के लिए एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिया है. हालंकि छात्रों ने इस बात को लेकर भी कड़ा विरोध जताया था.