जाने मोदी सरकार ने बेरोजगारों के लिए पोर्टल पर कितना नौकरी उपलब्ध करवाई है, और कितने को नौकरी मिली है

जैसा कि हम सभी लोग अभी देख रहे हैं सभी लोग अभी ज्यादातर बेरोजगार घर बैठे हैं ऐसे में बेरोजगार लोगों ने मोदी सरकार से जॉब पोर्टल पर एक करोड़ से ज्यादा बेरोजगारों ने नौकरी की माँग कीया है।इसके जवाब में अब तक मोदी सरकार ने 67.99 लाख नौकरियों की सूचना पोर्टल पर उपलब्ध करवा दिया है। लेकिन अभी तक  कितना भी रोजगार पोर्टल पर नौकरी के लिए पंजीकृत किए हैं इसका अभी तक सरकार के पास कोई आंकड़ा नहीं है। श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार पहले लोकसभा में  हुए एक सवाल के जवाब में उन्होंने  खुलकर बता दिया है,कि नेशनल करियर  पोर्टल के जरिए कितने लोगों को नौकरी मिली है  उसका जानकारी वहां पर नहीं रखा जाता है  पोर्टल पर सिर्फ रजिस्टर्ड वैकेंसी और पंजीकृत बेरोजगारों से जुड़े आंकड़े ही रखे जाते   हैं।

avoid doing things in office
Google Image

बताया जा रहा है कि मोदी सरकार ने नौकरियों के लिए हर जगह जो लोग बेरोजगार इधर-उधर घूम रहे थे। उन बेरोजगारों और अच्छे कर्मचारियों के लिए जो संस्था  ढूंढ रही थी उसके लिए उन्होंने सबसे खास पहल कीया था। इसके लिए श्रम और जगार मंत्रालय ने नेशनल करियर सर्विस पोर्टल का प्लेटफॉर्म लांच किया था। इस फोटो पर जो लोग बेरोजगार हैं वह अपने शैक्षिक योग्यता  अपना प्रोफाइल  बना सकते हैं और  जो कंपनी नौकरी देती है वहां पर वह रजिस्ट्रेशन भी कर सकते हैं।अगर बेरोजगार लोग  किसी भी संस्था या  कंपनी के बारे में जानकारी लेना चाहते हैं तो वह आसानी से ले सकते हैं।

चलिए एक बार हम नजर डालते हैं 2015 के जॉब पोर्टल पर जहां पर लोगों के लिए नौकरी की स्थिति संतोषजनक नहीं दिख पाई थी। बताया जा रहा है कि जब पोर्टल बनने के पहले साल 2015-16 में कुल एक लाख 47 हजार 780 नौकरियों की पोर्टल पर उपलब्ध करा दिया गया था।  जबकि 2015  और 16 मे  लगभग  32 लाख 32 हजार 916 बेरोजगारों ने नौकरी की मांग किया था। उस समय नौकरी देने वाली सिर्फ  559 कंपनियां  होटल से जुड़ा हुआ था। जो कि बेरोजगारों को नौकरी दे सकता था।

अगले साल पोर्टल के बारे में और जानकारी हुई तो बेरोजगारों की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ गई थी। 2016-17 में 1433075 जॉब के लिए वैकेंसी निकाला गया था। उसके बाद बेरोजगारों की संख्या बढ़कर  44,73,989 हो गई थी। उसके बाद  2017-18 में  भी  5251432 बेरोजगारों ने सरकार से नौकरी की मांग किया। बेरोजगारों के  नौकरी की मांग  करने बाद सरकार ने 23,54,047 नौकरियां उपलब्ध कराया। उसके बाद 2018-19 में बेरोजगारों की संख्या 85,41,273 तक बढ़कर हो गया। जबकि नौकरियों का आंकड़ा 40,41,848 ही रहा।

 उसके बाद बताया जा रहा है कि 2019-20 में बेरोजगारों की  संख्या  एक करोड़ नौ लाख 87 हजार 331 हो गया। जबकि नौकरियों की संख्या 67,99,117 ही  रह गई।  अभी भी  एक करोड़ चार लाख 54 हजार 808  लोग बेरोजगार बैठे  हैं। और सरकार ने सिर्फ तीन लाख 26 हजार  हि जाँब  वैकेंसी निकाला था।

सबसे हम पहले जानते हैं कि कौन सी जगह पर कितना जॉब उपलब्ध है। कर्नाटक में अभी फिलहाल 45,764 जॉब की उपलब्धियां है,महाराष्ट्र मे भी  42,506 जाँब है, इसके साथ साथ और बहुत सारे जगह पर जॉब है. पश्चिम बंगाल में 40,417, उत्तर प्रदेश में 30,428, गुजरात में 20,081, मध्य प्रदेश में 13,739 जाँब इन सभी पोर्टल पर अभी  उपलब्ध हैं। उसके बाद बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर में भी अभी फिलहाल 274   महज 21,334  सरकारी नौकरियां हैं, वहीं 23,010 रिटायर्ड सैनिकों के लिए, वहीं मात्र 4986 नौकरियां महिलाओं के लिए हैं. दिव्यांग लोगों के लिए 208, अप्रेंटिसशिप के लिए 347 हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *